पुलवामा हमले के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव चरम पर है। दोनों देशों के बीच जंग के आसार बने हुए है। बावजूद पाकिस्तान के संसदीय मामलों के मंत्री अली मोहम्मद ख़ान ने इस्राईल को दुश्मन नंबर वन करार दिया।

उन्होने कहा, उनका देश कभी भी इस्राईल को मान्यता नहीं देगा, क्योंकि वह पाकिस्तानी राष्ट्र का दुश्मन नम्बर वन है। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज़ मुशर्रफ़ के पाकिस्तान की और से इस्राईल को मान्यता देने संबंधी बयान पर उन्होने कहा, पाकिस्तानी जनता ऐसे लोगों का डटकर मुक़ाबला करेगी जो इस्राईल से दोस्ती की बात करते हैं।

Loading...

बता दें कि दुबई में एक न्यूज़ कांफ़्रेंस को संबोधित करते हुए जनरल मुशर्रफ़ ने कहा था कि पाकिस्तान को अगर अपने सबसे कट्टर प्रतिद्वंद्वी भारत से मुक़ाबला करना है तो उसे इस्राईल से मज़बूत संबंध बनाना होंगे।

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र संघ में पाकिस्तानी दूत मलीहा लोदी ने फ़िलिस्तीन के प्रति पाकिस्तानी राष्ट्र की प्रतिबद्धता का उल्लेख करते हुए कहा था कि इस्लामाबाद, तेल-अवीव के साथ संबंध स्थापित नहीं करेगा।

पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद सैय्यद ख़ुर्शीद अहमद शाह ने भी इमरान सरकार इस्राईल को मान्यता देने की ग़लती नहीं कर सकती है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें