Wednesday, June 16, 2021

 

 

 

रमज़ान के दौरान हरम शरीफ और मस्जिद ए नबवी में सुहुर, इफ्तार और इतिकाफ पर रहेगी रोक

- Advertisement -
- Advertisement -

पिछले साल की तुलना में कोरो’ना के कम मामलों के बावजूद भी सऊदी हुकूमत ने मक्का में हरम शरीफ और मस्जिद ए नबवी में इफ्तार और इतिकाफ पर रोक लगा दी है।

इतिकाफ का शाब्दिक अर्थ है एक जगह पर रहना। इस्लाम में, इसका अर्थ है मस्जिद में एक निर्दिष्ट समय के लिए रहना, जिसके दौरान कोई व्यक्ति खुद को या खुद को अल्लाह के लिए समर्पित करता है और ज्यादातर समय प्रार्थना और ध्यान में बिताता है।

दो पवित्र मस्जिदों के मामलों के प्रमुख शेख अब्दुल रहमान अल सुदैस ने कहा कि मक्का में संबंधित समिति के सहयोग से हरम शरीफ में आने वालों के लिए व्यक्तिगत रूप से तैयार इफ्तार भोजन प्रदान करेंगे।

हालांकि, मस्जिद ए नबवी और उसके आंगनों और परिसरों के क्षेत्रों में सुहुर के लिए भोजन का वितरण निषिद्ध होगा।

अल सुदैस ने कहा कि रमजान की योजना एहतियाती उपायों का पालन करके महा’मारी से निपटने पर केंद्रित है। उमराह जायरीनों और नमाजियों को पहले टी’का लेने की सलाह दी जाती है, साथ ही स्वास्थ्य के लिए उन्हें शारीरिक दूरी बनाकर रखनी चाहिए।

उन्होंने कहा, “माताफ (पवित्र काबा के चारों ओर परिक्रमा के लिए क्षेत्र) केवल उमराह जायरीनों के लिए नामित किया जाएगा और नमाज के लिए ग्रैंड मस्जिद और उसके पूर्वी प्रांगण के अंदर पांच निर्दिष्ट क्षेत्र होंगे।”

उन्होंने कहा, “ग्रैंड मस्जिद में काम करने वाले अनुवादक 23 भाषाओं में फतवे (धार्मिक शिक्षा) जारी करने वाले विद्वानों को मार्गदर्शन सेवा प्रदान करेंगे और सवालों का अनुवाद करेंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles