इटली की सुप्रीम कोर्ट ने एक बेहद ‘मानवतापूर्ण’ फैसला सुनाते हुवे कहा है कि अगर आप बेहद भूखे हैं तो ऐसी स्थिति में थोड़ी मात्रा में भोजन चुराने को अपराध की श्रेणी में  नहीं माना जाएगा.

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, जजों ने रोमन ओस्ट्रियाकोव नाम के शख्स के खिलाफ चोरी के अपराध में दोषी होने के निचली अदालतों के फैसले को पलट दिया. इस शख्स ने एक सुपरमार्केट से चीज़ और सॉस चुरा लिए थे. इनकी कीमत करीब 4.50 डॉलर बताई गई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कैसेशन की अदालत ने कहा कि ओस्ट्रियाकोव यूक्रेन मूल का एक बेघर व्यक्ति हैं. उसने अपनी भूख की जरुरत को पूरा करने के लिए भोजन लिया था. इसलिए यह एक अपराध नहीं हो सकता.

इटली के एक अखबार ने एक लेख में इस बारे में लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट के जजों ने जीवन के अधिकार को सम्पत्ति से भी ऊपर माना. कोर्ट का फैसला हर किसी को याद दिलाता है कि “आर्थिक तंगी के समय में सभ्य देश में सबसे खराब हाल का व्यक्ति भी भूखा नहीं रहना चाहिए”

Loading...