Sunday, January 16, 2022

हिजाब को लेकर बढ़ते भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाने आई हूँ ओलंपिक में

- Advertisement -

रियो ओलंपिक में अमरीका का प्रतिनिधित्व कर रही अमरीका की पहली मुस्लिम महिला खिलाड़ी “इब्तेहाज मोहम्मद” ने अमरीका में बढ़ते नस्लवाद और रंगभेद के प्रति अमेरिकी सरकार के समर्थन पर नाराजगी जाहि की हैं.

“इब्तेहाज मोहम्मद” अमरीका की पहली हिजाब वाली मुस्लिम महिला खिलाड़ी हैं जो “रियो ओलंपिक” में भाग ले रही हैं. शनिवार को इतालवी समाचार एजेंसी को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि मुझे अमरीका में मौजूद नस्लवाद और रंगभेद जिसे सरकार का समर्थन प्राप्त है, उस पर बहुत अफ़सोस है.

उन्होंने अमेरिका सहित दुनिया भर में हिजाब पहनने वाली मुस्लिम महिलाओं के साथ बड़ते  भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाते हुए कहा कि वह सिर्फ इस अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए ब्राज़ील नहीं आई हैं बल्कि उनका उद्देश्य अमरीका सहित दुनिया भर में हिजाब पहनने वाली महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाना है.

इब्तेहाज मोहम्मद का कहना था कि उन्होंने एक मुस्लिम महिला होने के नाते कभी अपनी पहचान नहीं छिपाई। याद रहे कि इब्तेहाज मोहम्मद ने कुछ समय पहले अपने एक बयान में कहा था कि वह पर्दे को अपने लिए स्वतंत्रता का प्रतीक और अपनी पहचान मानती हैं

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles