palestinian israel conflict
Palestinian Ahed Tamimi (C) gestures in front of an Israeli soldier on November 02, 2012, during a protest against the confiscation of Palestinian land by Israel in the West Bank village of Nabi Saleh near Ramallah. Israel's army arrested Ahed Tamimi on December 19, 2017, after a video went viral of her slapping Israeli soldiers in the occupied West Bank as they remained impassive. / AFP PHOTO / ABBAS MOMANI
palestinian israel conflict
Palestinian Ahed Tamimi (C) gestures in front of an Israeli soldier on November 02, 2012, during a protest against the confiscation of Palestinian land by Israel in the West Bank village of Nabi Saleh near Ramallah.

शुक्रवार को न्यू यॉर्क में ग्रांड सेंट्रल टर्मिनल के अंदर हजारों की संख्या में लोगों ने एकत्रित होकर 16 साल की फिलिस्तीनी कार्यकर्ता अहद अल-तमीमी की रिहाई की मांग की. जिसे इजराइल सरकार ने हिरासत में लिया हुआ है.

Protesters hold posters and banners during a protest in solidarity with the16-year-old Palestinian Ahed al-Tamimi, who was taken into custody by Israeli soldiers, and Palestinian prisoners in Israeli jails at Grand Central Terminal in New York, United States on January 5, 2017 [Atılgan Özdil / Anadolu Agency]

अहद तमीमी को रिहा करो और अमेरिका इजरायल की मदद बंद करो के नारों के साथ प्रदर्शनकारियों ने अपना विरोध-प्रदर्शन किया. ध्यान रहे 2 सप्ताह पहले इजराइल के सैनिकों ने पश्चिम बैंक में रातोंरात छापे के दौरान तमीमी और उनकी माँ को गिरफ्तार किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तमीमी और उनकी मां नरीमन को कोर्ट ने आठ दिनों के लिए सलाखों के पीछे हिरासत में लेने का आदेश दिया. तमीमी पर इज़राइली सैनिक पर हमला करने, सुरक्षा बलों पर पत्थर फेंकने, और अन्य अपराधों सहित पांच अपराधों का आरोप लगाया गया.

तमीमी को तीसरी बार इजराइल ने गिरफ्तार किया गया है. हालांकि इस बार उनकी गिरफ्तारी दुनिया भर में चर्चा का विषय बनी हुई. दरअसल दुनिया इस बात से हैरान है कि 16 साल की एक लड़की बंदूकधारियों सैनिकों से टकरा रही है. ना उसे किसी बात का खौफ है और नहीं कोई डर.

2001 में फिलिस्तीन रामलला के नबी सालेह इलाके में पैदा होने वाली अहद तमीमी की यह निडरता सबसे पहले 2012 में दुनियां की नजर में आई थी जब उस साल दिसंबर के महीने में वह इजराइल फौजियों से भीड गई थी क्योंकि उसकी मां को गिरफ्तार कर के ले जा रहे थे. उनका ये वीडियो दुनिया भर में वायरल हुआ था.

Protesters hold posters and banners during a protest in solidarity with the16-year-old Palestinian Ahed al-Tamimi, who was taken into custody by Israeli soldiers, and Palestinian prisoners in Israeli jails at Grand Central Terminal in New York, United States on January 5, 2017 [Atılgan Özdil / Anadolu Agency]

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान ने महज़ 11 साल की उम्र में तमीमी को उनकी बहादुरी के लिए सम्मानित भी किया था.