अंतराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था ह्युमन राइट्स वाच ने म्यांमार में हो रहे रोहिंग्या मुस्लिमों पर हो रहे अत्याचार को लेकर म्यांमार सरकार से ध्यान देने को कहा हैं.

संस्था की और से कहा गया कि म्यांमार की सरकार मुसलमानों के विरुद्ध हो रहे अपराधों और महिलाओं और लड़कियों के साथ यौन दुराचार की रिपोर्टों पर तत्काल ध्यान दे. याद रहन कि 9 अकतूबर से लेकर दिसम्बर के मध्य तक म्यांमार के सैनिकों ने कम से कम 9 गांवों में महिलाओं से यौन दुराचार किया है.

ह्युमन राइट्स वाच की और से आगे कहा गया कि  म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर इस भयानक तरीक़े से दर्दनाक अत्याचार हो रहे हैं कि किसी भी निष्पक्ष संस्था और देश के लिए इस पर चु रह पाना कठिन हो गया है जबकि म्यांमार के भीतर स्थिति यह है कि लोकतंत्र की ध्वजवाहक कही जाने वाली आन सान सूची के सत्ता में आने के बाद भी सरकार पीड़ित अल्पसंख्यकों की रक्षा करने में पूरी तरह विफल हो गई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

संस्था की और से कहा गया कि सूची पर भी देश के भीतरी समीकरणों के कारण भारी दबाव है लेकिन सवाल यह है कि सूकी ने लोकतंत्र के लिए लंबी लड़ाई बड़े साहस से लड़ी है अतः अल्पसंख्यकों की रक्षा के मामले में भी उन्हें अपना साहस दिखाना चाहिए

Loading...