दुबई – एक वर्ष में भारतीय मेड कैसे बन गयी कम्पनी की मालकिन

11:16 pm Published by:-Hindi News
indian maid

indian maid

एक भारतीय नौकरानी एक साल के अन्दर दुबई की एक कंपनी नाम है ‘लिमिटेड लायबिलिटी कंपनी’ की मालकिन बन गयी. यह उनकी कहानी नहीं है जिनके बारे में हम सुनते आते हैं यह एक धोखाधड़ी की कहानी है. प्रतिभा प्रकाश राव जिसे की कागजो पर एक फर्म की मालकिन बताया गया है , जिसके बारे में प्रतिभा को भी कोई आईडिया नहीं है वह खुद इस धोखाधड़ी को ख़तम करना चाहती है, परन्तु उसे कोई एसा सबूत नहीं मिल रहा है जिसकी वजह से वह यह सब ख़तम हो जाये. प्रतिभा कहती हैं की मुझे नहीं पता यह क्या कंपनी है और यह कंपनी कहाँ है.

55 वर्षीय प्रतिभा मुंबई की रहने वाली हैं, 2015 में पहली बार दुबई आयी थी जब उसे एक भारतीय दंपत्ति जो की अल फहिदी गली में रहते थे उन्होने उसे तीन महीने का वीजा देकर उसे अपने साथ घर का कम करने के लिए दुबई ले गए थे.

प्रतिभा बताती हैं कि ” मुझे DH1,025 का प्रस्ताव दिया गया कि मुझे इसमें एक नवजात शिशु सहित दो बच्चों की देखभाल करनी है. मैने बिना अपने वीजा के बारे में जाने हुए 10 महीने तक उस परिवार के लिए काम किया. कहती हैं की हालाँकि दोनों दंपत्ति कुछ समय बाद अलग हो गए थे और मेरे काम की ज्यादा आवश्यकता नहीं थी.

जब मैने अपना वीजा कैंसिल करने के लिए पासपोर्ट के लिए पूछा तो एम्प्लायर ने कहा की यह उसके दोस्त वीके का था जो एक फर्म चलाता है मै उनकी स्पोंसर हूँ. प्रतिभा बताती हैं की उसे ठीक से उसका नाम ही लिखना आता है, उसे कोई आईडिया नहीं था की उसके पीठ के पीछे उसके कागजों का दुरुप्रयोग किया जा रहा है. प्रतिभा कहती हैं की मै चौंक गयी की मई बस एक सफाई कर्मी हूँ और मुझे एक फर्म का भागीदार बनाया गया.

कहती है की मुझे मुंबई वापस जाना है और कहती है की उसके पिता बीमार हैं, जिन्होने अपनी आंखे खो दी हैं, और आश्चर्य की बात यह है की नर्गिस बानू टेक्निकल सर्विस के नाम पर नर्गिस बानू भी वहाँ नौकरानी के रूप में काम करती थी .प्रतिभा ने vk और नर्गिस बानू दोनों पर आरोप लगाये हैं कि उसकी आईडी और पासपोर्ट नर्गिस बानू और vk के पास हैं.

कहती हैं की पिछले ही हफ्ते वो मुझे मिले थे तो दोनों ने आईडी देने से मना कर दिया उधर दोनों दम्पतिय्यों ने यह कार्य करने से मना कर दिया नर्गिस बानू का कहना है की हम क्यों प्रतिभा को फर्म का मालिक बनायेंगे ये जानते हुए की उसे ठीक से ही अपना नाम ही लिखना आता है अगर कंपनी को कोई भी नुक्सान होता है तो इसके लिए प्रतिभा ही जिम्मेदार होई.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें