trumpescalatestension

trumpescalatestension

ईरान के साथ परमाणु समझौते से हाथ खींचने के फैसले को लेकर अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप वैश्विक मंच पर अपनी किरकिरी करवा रहे हैं. साथ ही उन्हें विपक्ष के नेताओं की भी तीखी आलोचना सुननी पड़ रही है.

पूर्व विदेश मंत्री और राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने एक निजी चैनल पर प्रसारित हुए साक्षात्कार में कहा कि सबूत इस बात के संकेत दे रहे हैं कि ईरान समझौते का पालन कर रहा है इसके बावजूद समझौते को खत्म करने की ट्रंप की धमकी देने से ‘‘हम मूर्ख और छोटे लगते हैं और ईरान के लोगों के हाथों में खेल रहे हैं.’’

क्लिंटन ने कहा, ‘‘यह न केवल इस स्थिति में खराब है बल्कि इससे दुनियाभर में एक संदेश गया है कि अमेरिका अपने वादे का पक्का नहीं है.’’ वहीँ  पूर्व अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप साल 2015 के ईरान परमाणु समझौते से समर्थन वापस लेने का खतरनाक फैसला कर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संकट पैदा कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि यह अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा हितों और उसके करीबी सहयोगियों के लिए खतरा है. मालूम हो कि इस समझौते पर ईरान के साथ बातचीत केरी ने ही की थी.

इसके अलावा ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी का कहना है कि यह समझौता उनके साझा राष्ट्रीय हितों के अनुरूप है. यूरोपीय संघ ने भी कहा है कि किसी एक देश की वजह से यह समझौता समाप्त नहीं होना चाहिए. संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने भी इस समझौते के कायम रहने की पुरजोर आशा व्यक्त की है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?