ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने बुधवार को कहा, ईरान 2015 के परमाणु समझौते के पूर्ण अनुपालन के लिए फिर से तैयार है। यदि अन्य दल भी अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करते है।

निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा समझौते से अलग होने के बाद ईरान और प्रमुख शक्तियों के बीच हुआ समझौता पतन के कगार पर है। हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति-चुनाव जो बिडेन ने समझौते पर लौटने की तत्परता व्यक्त की है।

रूहानी ने कहा, “जैसे ही 5 + 1 या 4 + 1 अपनी सभी प्रतिबद्धताओं को फिर से शुरू करते है तो हम सभी को फिर से शुरू करेंगे।” वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के जर्मनी सहित पांच वीटो-स्थायी स्थायी सदस्यों का उल्लेख कर रहे थे, जिनके साथ ईरान परमाणु समझौते पर पहुंचा था।

उन्होंने कहा, “मैंने पहले भी कहा था – यह समय नहीं है, यह सिर्फ एक इच्छा का सवाल है।” ईरान के अति-रूढ़िवादियों की आलोचना को धता बताते हुए, रूहानी ने जनवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति के परिवर्तन द्वारा प्रस्तुत “अवसर” को अपनाने का संकेत दिया था।

पिछले महीने तेहरान के बाहर परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फाखरीज़ादे की हत्या के बाद ईरानी संसद ने जल्दी से एक विधेयक पारित किया जिसका उद्देश्य यूरेनियम संवर्धन को बढ़ाना और अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के निरीक्षकों को निष्कासित करना था।

रूहानी प्रशासन ने स्पष्ट रूप से कहा है कि वह कानून का विरोध करते है और इसके प्रारूपण में परामर्श नहीं किया गया था।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano