Wednesday, January 19, 2022

हामिद करज़ई: तालिबान जबरन काबुल में नहीं घुसे, मैंने उन्हें बुलाया था

- Advertisement -

तालिबान को लेकर हामिद करजई ने बहुत बड़ा बयान दिया है एसोसिएटेड प्रेस को एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा है की तालिबान के नेताओं ने हमें आश्वासन दिया था कि उनके लड़ाके अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में प्रवेश नहीं करेंगे। लेकिन अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति अशरफ घनी अपने सभी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ काबुल अचानक से पहुंच गए जिससे कि तालिबान से समझौता नहीं हो सका।

आपको बता दें इस साल अगस्त में अमेरिकी सेना के जाने के बाद तालिबान में अफगानिस्तान सरकार का तख्ता पलट कर अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है। बीबीसी में प्रकाशित खबर के अनुसार तालिबान लड़ाकों ने एक-एक करके राजधानी काबुल के आसपास के क्षेत्रों को अपने नियंत्रण में ले लिया।

फिर वह राजधानी के बाहर आकर रुक गए थे उस समय तक तालिबान लड़ाकों के राजधानी में प्रवेश करने की कोई आशंका नहीं जताई जा रही थी‌। फिर अशरफ गनी ने अचानक से अफगानिस्तान को छोड़ दिया और 15 अगस्त को तालिबान ने राजधानी काबुल पर भी कब्जा कर लिया।

आपको बता दें उस समय तालिबान ने कहा था कि राजधानी में उनका प्रवेश करने का कोई भी इरादा नहीं है। मगर जब शहर में अफरा तफरी और लूटपाट का माहौल बन गया तो मजबूरन उन्हें काबुल में कदम रखना पड़ा। हामिद करज़ई बोले, “यही कारण है की अफ़ग़ानिस्तान में सरकारी ढांचा और सुरक्षा एजेंसियां पंगु हो गई थीं। उन्होंने ख़ुद तालिबान को काबुल में आने का न्योता दिया था।”

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles