haj1

हाल ही में सऊदी हुकूमत द्वारा इस्लाम की पवित्र धार्मिक यात्राओं हज और उमराह की वीजा फीस में बढोतरी को लेकर मिस्र और मोरक्को में सऊदी अरब का विरोध शुरू हो गया हैं.

मिस्र और मोरक्को के ट्रेवल एजेंट्स ने बढोतरी को लेकर सऊदी अरब द्वारा लगाई जा रही हज और उमराह प्रदर्शनियों का बहिष्कार करने का फैसला किया हैं. The National Federation of Travel Agents of Morocco ने  6 अक्टूबर को सऊदी अरब द्वारा बनाये गये उस प्रतिनिधिमंडल का भी बायकाट करने का फैसला किया जो इस मुद्दे को लेकर मोरक्को को आने वाला हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ मिस्र के ट्रैवल एजेंट्स एसोसिएशन (ETAA) ने भी विदेश मंत्रालय को एक समिति गठित करने को कहा हैं जो  सऊदी अरब की यात्रा और हज मंत्रालय को इस फैसले को बदलने और उस विचार करने के लिए राजी करेगा. इसके अलावा पाकिस्तान की ट्रैवल एजेंटों ने भी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से इस मसलें को लेकर सऊदी हुकूमत के सामने विरोध जताने की गुजारिश की हैं.

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन नैफ की अध्यक्षता में मंत्रियों के सऊदी परिषद ने घोषणा की कि नई वीजा फीस दोहराने तीर्थ पर मक्का और मदीना के लिए जा रहे तीर्थयात्रियों को प्रभावित करेगा, जबकि पहली बार तीर्थयात्रियों के लिए वीजा मुक्त रहेगा.

Loading...