swami vivekananda saraswati 3 620x400

बैंकॉक। दुनिया के सबसे बड़े तांत्रिक योग स्कूल ‘अगम योग’ को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। इसके प्रमुख गुरु विवेकानंद सरस्वती पर 100 महिलाओं से तंत्र विद्या के नाम पर योग गुरू के साथ शारीरीक संबंध बनाने का आरोप लगा है।

इसके अलावा स्कूल के 16 पुराने अनुयायियों, जिनमें 14 पुरूष और 2 महिलाएं शामिल ने सामने आकर आरोप लगाया कि उनका शारीरीक शोषण किया गया। इतना ही नहीं इनमें से लगभग 40 महिलाओं के साथ स्कूल के वरिष्ठ पुरूष कर्मचारियों ने अपनी हवस मिटाई। इनमें से कुछ यूके, ब्राजील, यूएस और कनाडा की महिलाएं भी हैं।

बताया जा रहा है कि स्वामी विवेकानंद सरस्वती सेक्स को धर्म से जोड़ते हैं और फिर महिलाओं का यहां ब्रेन वॉश किया जाता है ताकि उनका यौन शोषण किया जा सके। The South China Morning Post के मुताबिक यौन शोषण की एक पीड़िता ने कहा है कि स्कूल के अंदर उनके साथ जो कुछ भी हुआ उससे वो मानसिक तौर पर काफी परेशान हो गई हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल के अंदर की उन भयानक यादों को वो कभी भूल नहीं पाएंगी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं स्कूल प्रशासन ने संस्थापक पर लगे गंभीर आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि विवेकानंद सरस्वती ने स्कूल की सभी प्रशासनिक और शिक्षण संबंधी जिम्मेदारियों से खुद को अलग करने का फैसला किया है। कहा जा रहा है कि विवेकानंद सरस्वती ने देश भी छोड़ दिया है।

गौरतलब है कि मूलरूप से रोमानिया के रहने वाले स्वामी विवेकानंद सरस्वती ने भारत के ऋषिकेश में भी काफी समय गुजारा है।  ऋषिकेश को योग की जन्मस्थली कहा जाता है।

Loading...