nanka

nanka

इस्लामाबाद: पाकिस्तान सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए सिख धर्म स्थल ननकाना साहिब के पवित्र जल यानि अमृत जल को पूरी दुनिया में निर्यात करने का फैसला किया है.

ननकाना साहिब के कुएं का पानी सिखों के लिए उसी तरह पवित्र है. जिस तरह मुसलमानों के लिए आब-ए-ज़मज़म है. पाक हुकूमत ने इसके लिए ननकाना साहिब में एक फ़िल्टर प्लांट भी स्थापित किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ईटीपीबी के अध्यक्ष सिद्दीकुल फारूक ने संसद में धार्मिक मामलों की सीनेट की स्थायी समिति को ब्रीफिंग में बताया कि सिख धर्म के संस्थापक बाबा गुरु नानक के प्राचीन गुरुद्वारों को फिर से खोला गया है.

फारुख ने कहा, “पेशावर में एक और ननकाना साहिब जिले में दो गुरुद्वारे विभाजन के बाद बंद हो गए थे, और अब उन्हें नवीकरण के बाद सिख समुदाय को सौंप दिया गया है.”

उन्होंने कहा कि नानाकाना साहिब में गुरुद्वारा कर्तापुर साहिब है, जहां बाबा गुरु नानक ने अपने जीवन के अंतिम वर्षों को व्यतीत किया है. लेकिन सबसे महत्वपूर्ण उपलब्धि गुरुद्वारा कर्तापुर साहिब में पवित्र कुएं का उद्घाटन है. इसके पानी को सिखों द्वारा अमृत जल कहा जाता है.

फारुख ने बताया कि सरकार की अनुमति के बाद अब ये पानी दुनिया भर में मौजूद सिख भक्तों के पास पहुंचेगा. समिति को सूचित किया गया कि सरकार सिख धार्मिक पाठ के गुरूगंत साहिब के मुद्रण की अनुमति देने की प्रक्रिया में है.

Loading...