कुवैत में प्रदर्शन करने वाले भारतीय प्रवासियों को लेकर सरकार का सख्त एक्शन, वापस भेजे जाएंगे भारत

पैगंबर मोहम्मद साहब (PBUH)के ऊपर की गई नूपुर शर्मा द्वारा टिप्पणी का विवा’द पूरे देश में तो फैला ही हुआ है इसके साथ ही यह कई मुस्लिम देशों तक भी जा पहुंचा है जिसके चलते अब कुवैत में भारतीय मूल के लोगों ने नूपुर शर्मा की गिर’फ्तारी के लिए और नूपुर शर्मा के खिलाफ सख्त एक्शन लेने के लिए कुवैत में प्रदर्शन किया।

जिसके बाद कुवैत सरकार ने उनको लेकर सख्त कदम उठाया है हर देश का अपना नियम होता है कुवैत सरकार के अनुसार कोई भी प्रवासी इस तरह का प्रदर्शन नहीं कर सकता है और अगर उस तरह का प्रदर्शन करता है या उसका हिस्सा बनता है तो उसको सरकार के खिलाफ जाना माना जाता है। जिसके चलते उसे स’जा होती है।

वहां रहने वाले भारतीय मुस्लिम प्रवासियों ने फहील इलाके में नूपुर शर्मा के बयान के वि’रोध में प्रदर्शन किया था इसके साथ ही गिर’फ्तारी की मांग की थी जैसे ही कुवैत सरकार को इस बारे में पता चला तो उन्होंने इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए सारे प्रवासियों को जो उस प्रदर्शन में मौजूद थे उन्हें वापस डिपोर्ट करने की बात कही है।

अरब टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सभी प्रदर्शनकारियों को कुवैत से डिपोर्ट कर दिया जाएगा क्योंकि उन्होंने कुवैत सरकार के Rules and Regulations को पूरी तरह से तार-तार किया है इसके आगे बताते हुए कुवैत सरकार ने यह भी कहा है कि उन्होंने गाइडलाइंस का पालन नहीं किया है जिसके चलते प्रदर्शनकारियों को डिटेंशन सेंटर में लाने के निर्देश दिए गए हैं।

इसके साथ ही अल राय की रिपोर्ट के अनुसार देश की खुफिया एजेंसी के जासूसों को इन प्रवासियों की पहचान करने के लिए लगा दिया गया है अगर उनकी पहचान हो जाती हैं तो उन सभी को एक-एक कर गिरफ्तार करके डिटेंशन सेंटर लाने की जिम्मेदारी दी गई है जिसके बाद उन्हें ब्लैक लिस्ट करके डिपोर्ट कर दिया

विज्ञापन