अमेरिकी कंपनी गूगल ने अपने मैप एप्लिकेशन से फिलिस्तीन का नाम हटाकर इजराइल का लिख दिया. जिसके बाद दुनिया भर में गूगल की आलोचना की जा रही हैं.

फिलीस्तीन की प्रेस कौंसिल ने गूगल की आलोचना करते हुए कहा कि फिलीस्तीन को हमेशा के लिए मिटाने का षडयंत्र बताया हैं. जिसके तहत गूगल कंपनी ने जान बुझकर ऐसा किया हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बारे में आगे कहा गया कि गूगल ने इस्राईल की योजना के अनुसार आने वाली पीढिय़ों को भ्रमित करने के उद्देश्य से एक वैध देश के रूप में अपने नाम की स्थापना करने के लिये ऐसा किया है.

उनका यह यह क़दम, इतिहास और भूगोल को ग़लत तरीक़े से पेश करने के साथ ही साथ फ़िलीस्तीनियों की मातृभूमि की मांग के अभियान को कमज़ोर करने के लिये उठाया गया है.

फिलीस्तीन की प्रेस कौंसिल के अनुसार  ऐसा करने के बाद भी वे अपने षडयंत्रों में सफल नहीं हो पायेंगे. उन्होंने गूगल से इसमें बदलाव की मांग करने के साथ-साथ कहा कि यह काम अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के विपरीत है.

Loading...