जर्मनी में हिजाब के कारण मुस्लिम महिलाओं के साथ नौकरियों में भेदभाव किया जा रहा हैं. इस बात का खुलासा र्मनी के ड्वेचे वेले चैनल की एक रिपोर्ट में हुआ हैं.

चैनल की रिपोर्ट के अनुसार, जर्मनी में पेशेवराना दक्षता की ट्रेनिंग हिजाब करने और न करने वाली महिलाओं के लिए एक समान ही है लेकिन नौकरी मिलने के दोनों गुटों के अवसर समान नहीं हैं और एेसा लगता है कि पर्दा इस मामले में रुकावट बन जाता है.

चैनल ने बताया है कि जर्मनी में हिजाब के साथ काम करने वाली महिलाओं के संबंध में अब तक जितने भी शोध किए  गए हैं उनसे पता चलता है कि काम देने वालों ने हिजाब वालीे महिला और बिना हिजाब वालीे महिला के साथ अलग-अगल व्यवहार किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जर्मनी के एक शोधकर्ता ओल्फ़ रूने का कहना है कि हमने अपने शोध में देखा कि जाॅब के लिए दिए गए इंटरव्यू में सफल होने में हिजाब वाली महिलाओं की संभावना काफ़ी कम रही है. यह एेसी स्थिति में है कि जर्मनी में भेदभाव प्रतिबंधित है और किसी को भी किसी के धर्म, लिंग, आयु या अपंगता के कारण उसे क्षति पहुंचाने का अधिकार नहीं है.

Loading...