तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने जर्मनी पर आतंकियों की मदद करने और उन्हें शरण देने का आरोप लगाया हैं. उन्होंने कहा कि बर्लिन आतंकवाद के समर्थन में हैं और आतंकियों को शरण दे रहा हैं.

अल आलम टीवी चैनल ने अर्दोग़ान के हवाले से कहा कि तुर्की द्वारा हिरासत में लिया गया जर्मन पत्रकार एक “जर्मन एजेंट” हैं और वह कुर्द उग्रवादी समूह का सदस्य हैं. हालांकि जर्मनी के विदेश मंत्रालय ने इस तरह के दावे को “बेतुका” बताया.

जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल ने जर्मन पत्रकार की गिरफ़्तार की आचोलना की. इसके साथ ही उन्होंने तुर्की पर मीडिया की स्वतंत्रता का हनन करने का भी आरोप लगाया. तुर्की राष्ट्रपति का यह बयान जर्मन अधिकारियों की ओर से तुर्की के संविधान में संशोधन के बारे में पहले से निर्धारित तीन बैठकों को रद्द करने की घोषणा के बाद सामने आया है

याद रहे तुर्की और जर्मनी के मध्य तनाव 15 जुलाई के विफल सैन्य विद्रोह के बाद अपनी चरम सीमा पर पहुंच गये क्योंकि तुर्की ने द वोल्ट समाचार पत्र के पत्रकार दनीज़ यूजल को आतंकवाद का प्रचार करने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया था.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?