mac

चीन, रूस व अमेरिका जैसे देशों से अपनी सुरक्षा के लिए अलग ‘यूरोप सेना’ बनाने के फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के प्रस्ताव को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने अपमानजनक करार दिया।

बीते दिनों फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने फ्रेंच रेडियो स्‍टेशन वन को एक इंटरव्‍यू दिया था। इसमें उन्होंने कहा था कि यूरोप को रूस, चीन व अमेरिका से बचने के लिए एक सच्ची यूरोपीय सेना गठित करने की जरूरत महसूस हो रही है।

उन्होंने कहा, ‘असल पीड़ित कौन है? यूरोप और इसकी सुरक्षा। मैं रूस, जिसका सम्मान करता हूं, के साथ एक वास्तविक सुरक्षा संवाद चाहता हूं…लेकिन हमें ऐसा यूरोप बनाना है जो अमेरिका पर निर्भर हुए बिना अपनी रक्षा कर सके।’

इस पर ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, फ्रांस के राष्ट्रपति का कहना है कि यूरोप को खुद को अमेरिका, चीन व रूस से बचाने के लिए एक सेना बनाने की जरूरत है। यह बहुत ‘अपमानजनक’ है। मगर, शायद यूरोप को पहले नाटो को लेकर उचित भुगतान करना चाहिए, जिसमें अमेरिका काफी सब्सिडी देता है।

बता दें कि फ्रांसीसी राष्ट्रपति पिछले साल सत्ता में आने के बाद से ही यूरोपीय सहयोगियों के बीच रक्षा सहयोग के लिए दबाव डालते रहे हैं। हालांकि, अन्य सदस्य राज्यों द्वारा इस मामले में पैर पीछे खींचने के चलते उन्हें अब तक सीमित सफलता ही मिल पाई है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें