कैथोलिक ईसाइयों के सबसे प्रमुख धर्मगुरु पोप फ़्रान्सिस ने आतंकवाद को लेकर इस्लाम धर्म को निशाना बनाये जाने पर आलोचना की हैं. उन्होंने कहा कि इस्लामिक आतंकवाद का कोई अस्तित्व नहीं हैं. इस्लाम के बारें में नकारात्मक प्रचार किया जा रहा हैं.

शनिवार को पोप फ़्रान्सिस ने कहा, इस्लामी आतंकवाद नाम की चीज़ का कोई अस्तित्व नही हैं.  संसार के सभी धर्मों का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि सभी धर्म, शांति का प्रचार करते हैं और सभी धार्मिक विचारधाराओं में चरमपंथ का ख़तरा मौजूद रहता है.

पोप ने कहा कि जिस प्रकार से ईसाई आतंकवाद का अस्तित्व नहीं है. उसी तरह यहूदी और इस्लामी आतंकवाद का भी कोई अस्तित्व नहीं है. उन्होंने आगे कहा, हिंसा प्रेमी और चरपमंथी लोग नफ़रत फैलाते हैं और दूसरे देशों के लोगों से शत्रुता को हवा देते हैं.

पोप फ़्रांसिस ने अमेंरीका के नए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की नीतियों की निंदा की और सचेत किया कि पानी और मौसम का संकट वास्तव में मौजूद है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें