फ्रांस के अधिकारियों ने गुरुवार को दर्जनों मस्जिदों पर छापेमारी की। इस छापेमारी कार्रवाई के पीछे उसने चरमपंथियों पर कार्रवाई का हवाला दिया और कट्टरपंथी शिक्षाओं का संदेह जताया।

दर्मैनिन ने आरटीएल रेडियो को बताया कि यदि चरमपंथ को बढ़ावा देने के लिए कोई मस्जिदों में पाया गया तो इसे बंद कर दिया जाएगा।

गुरुवार दोपहर को किए जाने वाले निरीक्षण पिछले दो भीषण हमलों की प्रतिक्रिया का हिस्सा हैं जो विशेष रूप से फ्रांस को झटका देते हैं। दर्मैनिन ने यह नहीं बताया कि अब किन मस्जिदों और धामिक स्थानों का निरीक्षण किया जाएगा।

दक्षिणपंथी मंत्री ने आरटीएल को बताया कि तथ्य यह है कि फ्रांस में लगभग 2,600 मुस्लिम पूजा स्थलों में से कुछ में कट्टरपंथी सिद्धांतों का पता चलता है, “हम व्यापक कट्टरता की स्थिति से बहुत दूर हैं।”

उन्होंने कहा, “फ्रांस के लगभग सभी मुसलमान गणतंत्र के कानूनों का सम्मान करते हैं और इससे (कट्टरपंथी) आहत हैं।” बता दें कि शिक्षक सैमुअल पैटी की हत्या के बाद से ही फ्रांस सरकार मुस्लिमों के खिलाफ सख्त रवैया अपना रही है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano