यमन की तरह सीरिया में अपनी कठपुतली सरकार के गठन को लेकर पिछले पांच सालों से युद्ध लड़ रहे सऊदी अरब को फ्रांस की और से बड़ा झटका लगा है. दरअसल फ़्रान्स के एजेंडा में अब राष्ट्रपति बश्शार असद को हटाना नहीं है.

फ़्रान्स के राष्ट्रपति ने इमेनोएल मैक्रोन ने कहा है कि सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद को सत्ता से हटाना अब कोई पूर्व शर्त नहीं रह गई है क्योंकि कोई भी उनका क़ानूनी विकल्प नहीं बन सकता.

उन्होंने कहा कि आतंकवादियों से संघर्ष से अधिक प्रभावी कोई भी चीज़ नहीं है और इस मामले में सभी पक्षों विशेष कर रूस का सहयोग ज़रूरी है. फ़्रान्स के राष्ट्रपति ने सीरिया को विगठित होने से रोकने को अपनी एक अन्य प्राथमिकता बताया और कहा कि सीरिया संकट के लिए राजनैतिक व कूटनैतिक रोड मैप खोजा जाना चाहिए.

गौरतलब रहें कि  हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ में अमरीका की प्रतिनिधि निकी हेली ने भी कहा था कि बश्शार असद को सत्ता से हटाना, अब सीरिया में अमरीका की प्राथमिकता नहीं है.




कोहराम न्यूज़ को लगातार चलाने में सहयोगी बनें, डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें