फ्रांस में जल्द ही राष्ट्रपति पद के चुनाव होने हैं. ऐसे में आतंकवादी हमलों के बाद मुसलमानों को निशाना बनाते हुए चुनाव प्रचार किया जा रहा हैं.

फ्रांस की दक्षिणपंथी राष्ट्रवादी नेता ली पेन ने फ़्रांस की सभी मस्जिदों को बंद करने की मांग उठाई हैं. देश में इस्लाफोबिया को बढ़ावा देने वाली ली पेन ने हाल ही में हुए पेरिस में हुए आतंकी हमलें को इस्लाम से जोड़कर कहा कि यह इस्लामी आतंकवाद की एक कड़ी है. जबकि इस हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली हैं.

शुक्रवार को एक टेलीविजन के कार्यक्रम के दौरान उन्होंने फ्रांस में मस्जिदों को नफरत फ़ैलाने का स्थान बताकर बंद करने और इस्लामिक प्रचारकों के देश से निकालने की मांग की है. उन्होंने कहा कि इनकी फ्रांसीसी नागरिकता भी रद्द कर देनी चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब रहें कि इससे पहले मरीन ली पेन ने एक विवादित टिपण्णी करते हुए कहा था कि राष्ट्रपति चुनाव में जीत पर वे फ्रांस में मुसलमानों के प्रवेश पर रोक लगा देंगी.

Loading...