मिस्र की अदालत ने देश के पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक को जेल से रिहा कर दिया हैं. वे 2011 के विद्रोह के दौरान सैकड़ों प्रदर्शनकारियों की हत्या की साज़िश रचने के आरोप में जेल में बंद थे. इस मामलें में उन्हें हाल ही में आरोप मुक्त किया गया था.

पूर्वी क़ाहिरा की अदालत के न्यायाधीश अहमद अब्दुल क़वी की बेंच ने दो मार्च को अपने एक आदेश में फ़ैसला दिया था कि 2011 में प्रदर्शन के दौरान जनता के जनसंहार में हुस्नी मुबारक की कोई भूमिका नहीं थी. मुबारक को 2012 में दोषी ठहराए जाने के बाद उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई थी लेकिन इस केस की दो बार फिर से सुनवाई हुई.

बताया जा रहा हैं कि जेल से रिहा होंने के बाद वे सऊदी अरब की यात्रा करना चाहते हैं. आईयूवीएम प्रेस, अलअख़बार लेबनान की रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों ने कहा है कि मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक ने सऊदी अधिकारियों से संपर्क किया है और उनके फोन पर कहा हैकि वह सऊदी अरब की यात्रा करना चाहते हैं.

वहीँ रियाज़ ने भी उनकी इस मांग का स्वागत किया है और सऊदी अधिकारियों ने कहा है कि उनकी सऊदी अरब यात्रा और इस देश में ठहरने के तमाम प्रबंध किए जाएंगे. सऊदी अधिकारियों ने हुस्नी मुबारक को सुझाब दिया है कि सऊदी अरब उनके और उनके परिवार के लिए विशेष जहाज़ का प्रबंध करेगा.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?