स्पेन में ग्रेनेडा के ऐतिहासिक अलहम्ब्रा पैलेस में एक सीरियाई व्यक्ति द्वारा अज़ान दिए जाने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

लगभग 500 वर्षों से स्पेन के ग्रेनेडा में अलहम्बरा पैलेस के अंदर की दीवारों ने अज़ान की आवाज नहीं सुनी थी. यह सब तब बदल गया जब सीरिया के नौजवान मौज अल-नास ने पिछले गुरुवार को अज़ान दी.

1330 के दशक के दौरान युसुफ I ने स्पेन में मुस्लिम शासन के अंत के दौरान ग्रेनेडा के मुस्लिम शासकों द्वारा अलहम्बरा पैलेस का निर्माण किया था.

1492 में, ग्रेनेडा ईसाई शासन के अधीन आया और महल उस समय के कलाकारों और बुद्धिजीवियों के लिए शरण का अंतिम स्थान के लिए जाना जाता था.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?