imra

पाकिस्तान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री फवाद अहमद चौधरी ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तानी सरकार भारत से क्षेत्रीय शांति के लिये वार्ता करना चाहती है। लेकिन भारत की तरफ़ से अब तक कोई सकारात्मक जवाब नहीं आया है।

उन्होंने कहा, पाकिस्तानी सरकार और सैन्य अधिकारियों को लगता है कि कोई देश अलगाव में विकास कर नहीं सकता है। अगर एक देश को अपनी शांति की गारंटी नहीं मिली, तो राष्ट्रीय विकास को पीछे धकेला जाएगा।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत से क्षेत्रीय शांति के लिये वार्ता करना चाहता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को कई बार के संबंधित संदेश भेजे। लेकिन भारत ने सक्रिय जवाब नहीं दिया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

modi in bhgw

सूचना मंत्री ने कहा कि भारत के साथ समस्या यह है कि नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान विरोधी अभियान चलाया था। उन्होंने कहा, ”भारत में एक बार फिर से चुनाव होने वाले हैं। बीजेपी को लगता है कि पाकिस्तान के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाने से उसके वोट कट जाएंगे।”

उन्होने ये भी बताया कि पाकिस्तान जल्द ही भारत से करतारपुर सीमा के ज़रिए सिख तीर्थयात्रियों को बिना वीज़ा के पाकिस्तान आने देने का फ़ैसला लेने वाला है। उन्होंने कहा कि हज़ारों की संख्या में भारत से सिख समुदाय के लोग पाकिस्तान में गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन करने आते हैं। इस गुरुद्वारे का सिख समुदाय में काफ़ी महत्व है।

Loading...