एक डेनिश पार्टी के दक्षिणपंथी चरमपंथी नेता ने शुक्रवार को डेनिश संसद के सामने साप्ताहिक प्रार्थना कर रहे लोगों का विरोध करने के लिए मुस्लिम पवित्र पुस्तक की एक प्रति जला दी।

न्यूज़ एजेंसी अनातोली के अनुसार, जिस दिन राजधानी कोपेनहेगन में इस देश की जनता ने न्यूज़ीलैंड की दो मस्जिदों में हुए हालिया आतंकवादी हमले के पीड़ितों के प्रति हमदर्दी जताने के लिए प्रतीकात्मक क़दम के तहत शुक्रवार को संसद के सामने शुक्रवार की नमाज़ आयोजित की, स्ट्राम कोर्स दल के नेता रास्मस प्लॉडिन ने भड़काउ क़दम के तहत पवित्र क़ुरआन की एक प्रति को आग से जला दिया।

Loading...

https://twitter.com/Munir566/status/1109222409473851392

रिपोर्ट के अनुसार, कोपनहेगन में जिस जगह मुसलमान नमाज़ पढ़ रहे थे वहां से 100 मीटर की दूरी पर स्ट्राम कोर्स दल के कछ समर्थक भड़काउ क़दम के तहत नारे लगा रहे थे। उनके हाथों में इजरायल का झण्डा भी था।

https://twitter.com/Munir566/status/1109226908854747137

वहीं दूसरी और ठीक इसी समय इस्तांबुल में इस्लोमोफोबिया के खिलाफ ओआईसी की आपताकालीन मीटिंग चल रही थी। जिसमे इस्लोमोफोबिया के खिलाफ कदम उठाने विचार किया जा रहा था।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें