सऊदी अरब में विदेशियों के लिए बदले गए नियमों के कारण अब भारतीय परिवार लौटने को मजबूर हो रहे है। दरअसल, सऊदी सरकार ने विदेशियों के लिए फैमिली टैक्स दोगुना कर दिया है।

इसके अलावा फैमिली वीजा की फीस 2000 रियाल यानी 36 हजार रुपये हो गई है।  सिंगल एग्जिट रीएंट्री वीजा की फीस 1 साल के लिए 3600 रुपये थी, अब इसे 2 महीने में बनवाना होगा। इसे बढ़ाने के लिए 1800 रुपये हर महीने देने होंगे। बताया जा रहा है कि 2020 तक फैमिली टैक्स चार गुना कर दिया जाएगा।

बता दें कि सऊदी अरब में उन लोगों को फैमिली वीज़ा दिया जाता है, जो कि 5000 रियाल (86000 रुपये) पर महीना कमा रहे हो। वहीं इसके तहत एक व्यक्ति अपनी पत्नी और दो बच्चों को साथ रख सकता है जिसके लिए उन्हें 300 रियाल 5100 रुपये प्रति माह टैक्स देना पड़ता है।

इतना ही नहीं बिजली के दामों में तीन गुना तक इजाफा हुआ है। एक महीने का औसत बिजली बिल 200 रियाल से बढ़कर 600 रियाल यानी लगभग 11 हजार रुपये हो गया है। एक अनुमान के मुताबिक पिछले कुछ महीनों में करीब 500 से अधिक परिवार भारत लौट चुके हैं।

सऊदी अरब में पिछले 30 दशक से करीब 32.5 लाख भारतीय काम कर रहे हैं। इनमें केरल के लोगों की संख्या सबसे ज्यादा करीब 40% और तेलंगाना के लोगों की करीब 25% है।