Monday, May 17, 2021

गद्दाफी की बेटी को मिली बड़ी राहत, यूरोपीय संघ की अदालत ने हटाए प्रतिबंध

- Advertisement -

यूरोपीय संघ की शीर्ष अदालत ने बुधवार को लीबिया के पूर्व राष्ट्रपति मुअम्मर गद्दाफी की बेटी पर लगाए गए प्रतिबंधों को हटाने का आदेश दिया। यूरोपीय संघ की अदालत ने उत्तर अफ्रीकी देश में संघ’र्ष के एक दशक बाद 44 साल की आईशा गद्दाफी पर संपत्ति की फ्रीज और वीजा प्रतिबंध को बनाए रखने के फैसले को रद्द कर दिया।

अदालत के फैसले ने कहा कि आईशा गद्दाफी, जो ओमान में निर्वासन में रहती है, अब लीबिया की राजनीति में कोई भूमिका नहीं निभाती है और यूरोपीय संघ के अधिकारी यह समझाने में विफल रहे हैं कि वह “अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए ख’तरा क्यों बनी हुई है”।

एक प्रवक्ता ने कहा कि यूरोपीय संघ की परिषद “निर्णय का सावधानीपूर्वक विश्लेषण करेगी और इस तरह से आगे के आधार पर निर्णय लेगी”। यूरोपीय संघ के प्रवक्ता ने कहा, “पदनाम कम से कम तब तक लागू रहता है जब तक कि परिषद से संभावित अपील की अवधि (2 महीने) समाप्त हो गई है ।”

2011 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा अपने पिता के शासन के खिलाफ शुरू हुए वि’द्रोह के क्रू’र दम’न के चलते आइशा गद्दाफी पर यूरोपीय संघ द्वारा प्रतिबंध लादे गए थे।

अगस्त 2011 में त्रिपोली के विद्रो’हियों के पतन के बाद, आइशा, उसकी माँ और उसका एक भाई पड़ोसी अल्जीरिया भाग गए। बाद में उन्हें ओमान की खाड़ी सल्तनत में शरण दी गई, इस शर्त पर कि वे राजनीतिक गतिविधियों को अंजाम न दें।

पेशे से वकील और संयुक्त राष्ट्र की पूर्व सद्भावना दूत, आइशा, 2003 के अमेरिकी नेतृत्व वाले आक्रमण में इराकी नेता को बाहर निकाले जाने के बाद सद्दाम हुसैन के लिए एक अंतरराष्ट्रीय रक्षा टीम का हिस्सा थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles