बर्लिन: जर्मनी के कोलोन शहर में नव वर्ष के मौके पर हुए हमले के तनावों के बीच पाकिस्तानी और सीरियाई लोगों पर हमला हुआ है। नववर्ष पर हुए हमले के लिए मुख्यत: विदेशियों को जिम्मेदार ठहराया गया था।

जर्मनी के कोलोन में पाकिस्तानी और सीरियाई नागरिक बने लोगों का निशानापुलिस ने बताया कि भीड़ ने रविवार को छह पाकिस्तानियों पर हमला कर दिया जिसमें दो को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इसके थोड़ी देर बाद पांच लोगों के समूह ने एक सीरियाई नागरिक पर हमला किया जिसमें वह व्यक्ति मामूली रूप से घायल हो गया।

पुलिस ने कहा कि दोपहर उन्हें सूचना मिली कि लोगों का समूह ‘‘बदला लेने के लिए’’ हमला कर सकता है लेकिन वे अभी तक जांच कर रहे हैं कि ये हमले नस्ली उद्देश्य से किए गए और क्या इनका संबंध नव वर्ष के हमलों से है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इन हमलों से शरणार्थियों के लिए जर्मनी के खुले द्वार की नीति को लेकर तनाव फैल गया है और नेताओं ने अपराध करने वाले शरणार्थियों के खिलाफ कड़े कानून बनाने की मांग की है।

अधिकारियों और प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि नव वर्ष के अवसर पर हमला करने वाले करीब एक हजार लोगों के बीच के समूह थे जिन्हें मुख्यत: अरब और उत्तरी अफ्रीकी नागरिक बताया गया जो कोलोन के सेंट्रल ट्रेन स्टेशन पर इकट्ठा हुए थे। पुलिस ने कहा कि कुछ लोग छोटे समूहों में बंट गए और महिलाओं से छेड़खानी की और उनसे लूटपाट की। साभार: NDTV

Loading...