तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बैतुल मुक़द्दस को इजराइल की राजधानी घोषित करने को लेकर कहा कि बैतुल मुक़द्दस दुनिया भर के मुसलमानों के लिए रेड लाइन है. ऐसे में गंभीर परिणाम भुगतने होंगे.

अर्देगान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को संबंधित करते हुए कहा कि बैतुल मुक़द्दस, पूरी दुनिया के मुसलमानों के लिए रेड लाइन है और अमेरिकी दूतावास को बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित करने का उनका प्रयास पूरी दुनिया के मुसलमानों के ग़ुस्से को भड़का देगा. साथ ही उन्होंने तुर्की और इजरायल के बीच राजनयिक सबंध समाप्त करने की भी बात कही.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, बैतुल मुक़द्दस का मामला हमारे लिए बहुत ही संवेदनशील है और अगर बैतुल मुक़द्दस को अमेरिका की ओर से ज़ायोनी शासन की राजधानी के रूप में औपचारिकता प्रदान की गई तो इस्तांबुल इसके ख़िलाफ़ इस्लामी सहयोग संगठन की आपातकालीन बैठक बुलाएगा.

इसके अलावा उन्होंने वाशिंग्टन द्वारा सीरिया के कुर्द लड़ाकों को हथियार भेजे जाने पर आपत्ति जाताते हुए कहा कि हम अमेरिका को इस बात की अनुमति नहीं देंगे कि वह हमारी सीमा के पास एक आतंकवादी सरकार का गठन करे.

Loading...