Monday, October 18, 2021

 

 

 

फ़्रांस-ग्रीस से लड़ने का वक़्त आ गया तो बलिदान देने में संकोच नहीं करेंगे: तुर्की राष्ट्रपति एर्दोगान

- Advertisement -
- Advertisement -

भूमध्य सागर में ग्रीस और तुर्की के बीच जारी तनाव में फ्रांस ने ग्रीस को सैन्य मदद देने की घोषणा की है। तुर्की के मोडिफाइड एफ 16 फाइटर जेट से निपटने के लिए फ्रांस ग्रीस को 18 राफेल फाइटर जेट देगा। इनमें से 10 राफेल के F3-R वैरियंट होंगे, जबकि शेष 8 सेकेंड हेंड जेट होंगे। फ्रांस इन सेकेंड हेंड जेट को ग्रीस को मुफ्त में देगा।

दूसरी और तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने रविवार को फ्रांस और ग्रीस के खिलाफ युद्ध का संकेत दे दिया है। उन्होने अपने अधिकारियों से कहा है कि ग्रीस और फ़्रांस को अपने लालची और अक्षम नेताओं के कारण भुगतना पड़ेगा। उन्होने कहा, सवाल यह है कि भूमध्यसागर में ये हमारे ख़िलाफ़ खड़े होंगे तो क्या ये बलिदान के लिए तैयार हैं?

इससे पहले तुर्की के विदेश मंत्री ने तो फ्रांस पर जंग छेड़ने का आरोप लगाया था। वहीं, फ्रांस ने कहा था कि वह अपने मित्र देशों की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है। फ्रांस ने ग्रीस की सुरक्षा के लिए भूमध्य सागर में अपनी नौसेना को भी तैनात कर दिया।

वहीं शनिवार को तुर्की ने घोषणा की थी कि वो उत्तरी साइप्रस में सैन्य अभ्यास करने जा रहा है। बता दें कि दोनों देशों के बीच पूर्वी भूमध्यसागर में तेल और गैस भंडारों पर दावों को लेकर विवाद बढ़ गया है। ग्रीस का दावा है कि तुर्की का शिप उसके जलक्षेत्र में ऑपरेट कर रहा है। जबकि, तुर्की ने ग्रीस के दावे को नकारते हुए उस समुद्री हिस्से को अपना बताया है।

राष्ट्रपति अर्दोआन ने कहा था, तुर्की ओरुक रीस और उसे एस्कॉर्ट कर रहे जंगी जहाज़ों की गतिविधियों से एक क़दम भी पीछे नहीं हटेगा। उन्होंने कहा कि ग्रीस ने अपने आप को ऐसी मुसीबत में डाल लिया है जिससे बाहर निकलने का रास्ता उसे नहीं मिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles