इस्तांबुल: तुर्की के राष्ट्रपति रेसीप तय्यैप एर्दोगन ने साफ कर दिया कि सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास के अंदर पत्रकार जमाल खशोगीकी मौ’त के मामले में जल्द ही दुनिया के सामने पूरी सच्चाई रखी जाएगी।

एर्दोगन ने कहा कि वह आने वाले दिनों में इस ह’त्याकांड की अपने देश द्वारा की जा रही जांच के नतीजों का खुलासा करेंगे।  गौरतलब है कि खशोगी मामले को लेकर सऊदी के साथ एर्दोगन के संबंधों में और अधिक खटास आती दिख रही है।

इस मामले में राष्ट्रपति रेसेप तइप एर्दोगन और उनके अमेरिकी समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार रात को चर्चा भी की। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच सहमति बनी कि पत्रकार की मौत के सभी पहलुओं को उजागर किया जाना चाहिए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी बीच ब्रिटेन ने रविवार को कहा कि असंतुष्ट सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की मौ’त के बारे में सऊदी अरब का ब्योरा मानने योग्य नहीं है और अपराधियों को इंसाफ के कठघरे में जरूर लाया जाए। ब्रेग्जिट मंत्र डोमिनिक राब ने बीबीसी को बताया, ‘‘मैं नहीं समझता कि यह भरोसे के लायक है। ’’

उन्होंने कहा कि जो ब्योरा दिया गया है उसमें गंभीर सवालिया निशान हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम इसमें तुर्क जांच की हिमायत करते हैं और ब्रिटेन सरकार उस मौत के लिए लोगों को इंसाफ के कठघरे में देखना चाहती है।’’

Loading...