तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोआन ने बुधवार को यूरोपीय देशों, विशेष रूप से फ्रांस में बढ़ते इस्लामोफोबिया को लेकर कहा कि ये लोग इस्लाम के खिलाफ धर्मयुद्ध को फिर से शुरू करना चाहते हैं।

राष्ट्रपति ने सत्तारूढ़ न्यायमूर्ति और विकास पार्टी (एके पार्टी) की अंकारा में संसदीय समूह की बैठक के दौरान कहा कि मुझे इन बेईमान ’लोगों के बारे में कुछ भी कहने की जरूरत नहीं है, जो तथाकथित कैरिकेचर के माध्यम से हमारे नबी का मजाक उड़ाने की हिम्मत करते हैं।

उन्होंने कहा, “हमारा एक ऐसा राष्ट्र हैं जो न केवल हमारे अपने धर्म बल्कि अन्य धर्मों के मूल्यों का भी सम्मान करता है। यह हमारे मूल्य हैं जिन्हें लक्षित किया जा रहा है।” एर्दोआन ने इस बात पर प्रकाश डाला कि बोलने की स्वतंत्रता का पैगंबर मुहम्मद के अपमान से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, “कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे क्या करते हैं, हम सही कारण का बचाव करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।”

राष्ट्रपति ने जोर देकर कहा कि यूरोप की नवीनतम चालें उन मूल्यों के खिलाफ जाती हैं, जिनका वे उद्देश्य रखते हैं। उन्होंने कहा, “यूरोपीय देशों को भी अब इस्लाम के प्रति अपनी नफरत को ढंकने की जरूरत नहीं है।”

एर्दोआन ने आगे कहा, “फ्रांस और यूरोप, सामान्य तौर पर, (फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल) मैक्रॉन की शातिर, उत्तेजक, घृणित नीतियों और उसी मानसिकता का पालन करने वालों के लायक नहीं हैं।”

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano