comcec

तुर्की के दुसरे बड़े शहर अंकारा में इस्लामिक देशों के आर्थिक और वाणिज्यिक सहयोग की स्थायी समिति (सीओएमईईसी) के 33वें सत्र को संबोधित करते हुए तुर्की के राष्ट्रपति रजब तय्यिप एर्दोगान ने मुस्लिम देशों के बीच व्यपार को तरजीह दी.

इस दौरान उन्होंने इस्लामिक दुनिया के सामने आने वाले खतरों को पेश करते हुए कहा कि एक गंदी साजिश के तहत इस्लामिक दुनिया के भविष्य को नष्ट किया जा रहा है. इस्लामिक समाज को जातीय, धार्मिक या सांप्रदायिक मतभेदों में रंगा जा रहा है.

उन्होंने कहा, इस साजिश का मकसद मुसलमानों के बीच मौजूदा गलतियों को गहरा कर आंतरिक संघर्षों को बढ़ावा देना है. जिसकी वजह से आज मुसलमान आज अपने पड़ोसी और भाई-बहन कोदुश्मन के रूप में देखते हैं. उन्होंने पश्चिम को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया.

एर्दोगान ने कहा, पश्चिम अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए अपने इतिहास के दुर्भावनापूर्ण तत्वों को इस्लामिक दुनिया में निर्यात कर रहा है. ताकि मुस्लिमों के संसाधनों पर कब्जा जमाया जा सके. उन्होंने कहा, दुर्भाग्य से पश्चिमी देशों के  स्वामित्व वाली कंपनियों की जेबों में मुस्लिमों का पैसा जा रहा है.

उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा, इस्लामिक दुनिया हाल ही में आर्थिक रूप से, सामाजिक और राजनीतिक रूप से एक बुरे दौर से गुजर रहा है.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano