irann

irann

इराक से अलग होने के लिए कुर्दिस्तान में हुए जनमत संग्रह के चलते तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान एक उच्चस्तरीय शिष्टमंडल के साथ ईरान पहुंचे है.

तेहरान की सरजमींन पर कदम रखने के साथ ही ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने उनका स्वागत किया. तुर्की राष्ट्रपति की यह यात्रा कुर्दिस्तान में रिफ़्रेंडम के बाद पैदा होने वाली स्थिति की भी समीक्षा को लेकर है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आप को बता दे ईरान आने से पहले तुर्की राष्ट्रपति अपनी देश की सेना को किसी भी वक्त कुर्दिस्तान में कार्रवाई के लिए तैयार रहने का आदेश देकर आये है.

नाटो सदस्य होने के बावजूद तुर्की और ईरान के कुर्दिस्तान के मुद्दे पर एक विचार है. दोनों ही देश इस जनमत संग्रह को खारिज कर चुके है. साथ इस के लिए इजरायल को जिम्मेदार ठहरा चुके है.

तुर्क राष्ट्रपति के तेहरान दौरे के दौरान दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों के नेतृत्व में ईरान और तुर्की के वरिष्ठ शिष्टमंडल और रणनैतिक सहयोग की सर्वोच्च काउंसिल की भी बैठक होगी.

उच्चस्तरीय शिष्टमंडल की वार्ता और बैठक के बाद ईरान और तुर्की के मध्य विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे. कार्यक्रम के अनुसार दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्ष एक संयुक्त प्रेस कांफ़्रेंस को भी संबोधित करेंगे.