म्यांमार के हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ एक बार फिर से हिंसा शुरू हो चुकी है. म्यांमार सेना और बौद्ध चरमपंथियों की कार्रवाई में अब तक 100 से ज्यादा लोग मारे जा चुके है.

रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा पर तुर्की ने कड़ा रुख अपनाया है. तुर्की राष्ट्रपति रेसिप तय्यिप एर्दोगान ने एक विशेष प्रसारण के जरिए म्यांमार के रवैये की निंदा की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एर्दोगान सरकारी प्रसारक टीआरटी हैबेर न्यूज़ चैनल पर बोलते हुए राखिने राज्य में हिंसा और अशांति के लिए म्यांमार पर “अंधे और बहरे” होने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, तुर्की अंतरराष्ट्रीय संगठनों के समक्ष इस मुद्दे को उठाएगा. उन्होंने कहा यह संयुक्त राष्ट्र की महासभा [19 सितंबर को] हमारे एजेंडे पर होगा.

ध्यान रहे म्यांमार सुरक्षा बलों ने हजारों रोहिंग्या मुस्लिम ग्रामीणों को विस्थापित करने के लिए मोर्टारों और मशीनगनों के साथ असंतुलित ताकतों का इस्तेमाल किया. इस दौरान उनके घरों को नष्ट कर दिया.

Loading...