मिस्र में प्रतिबंधित मुस्लिम ब्रदरहुड की 1 हजार से ज्यादा संपत्तियों को जब्त करने के आदेश जारी किए गए है। एक न्यायिक समिति ने ये आदेश जारी किए है।

बता दें कि मुस्लिम ब्रदरहुड को मिस्र में दिसंबर 2013 में प्रतिबंधित कर उसे आतंकवादी संगठन की सूची में ड़ाल दिया गया था। साथ ही इन से जुड़े लोगों की संपत्तियों की जब्तियों की निगरानी करने के लिए एक कानून भी पारित किया गया था जिसके बाद यह फैसला लिया गया।

न्यायिक समिति की घोषणा के अनुसार, ब्रदरहुड के 1,589 सदस्यों की संपत्तियां भी जब्त की जाएगीं। हाल ही में मिस्र की अदालत ने साल 2013 के विरोध प्रदर्शनों से जुड़े 75 लोगों को मौत की सज़ा सुनाई है।

अदालत ने यह फ़ैसला 2013 में पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मोरसी के समर्थन में हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन में सुनाया है। इसमें 700 से ज्यादा लोगों को अभियुक्त बनाया गया था। ये प्रदर्शनकारी मोरसी के समर्थक और मुस्लिम ब्रदरहुड के सदस्य है।प्रदर्शन के दौरान सुरक्षा बलों ने कम से कम 800 लोगों को मार दिया था।

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अदालत के इस फ़ैसले की निंदा की है। एमनेस्टी का कहना है कि यह हास्यास्पद फ़ैसला है क्योंकि एक भी पुलिस अधिकारी को सज़ा नहीं मिली।