मिस्र ने गाजा पट्टी के साथ सोमवार को फिर से अपनी सीमा को खोला दिया है ताकि फिलिस्तीनी हाजी मक्का की यात्रा कर सके।

हमास द्वारा संचालित आंतरिक मंत्रालय के क्रॉसिंग प्राधिकरण के निदेशक हिशाम अधवान ने कहा, ” 2,500 हाजियों के लिए क्रासिंग को चार दिन के लिए फिर से खोल दिया गया।” उन्होंने कहा, “लगभग 800 हाजी आज पट्टी छोड़ देंगे,” उन्होंने कहा, इन सभी ने पहले से ही सऊदी वीज़ा प्राप्त किया हुआ है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हाल के वर्षों में मिस्र के साथ राफह क्रॉसिंग को काफी हद तक बंद कर दिया गया है।
इसराइल ने एक दशक के लिए गाजा पर एक बेवक़ूफ़ नाकाबंदी भी बनाए रखी है, उसका कहना है कि ये इस्लामवादी आंदोलन हमास को रोकने के लिए जरूरी है, जो पट्टी पर शासन करता है.

इसराइल का मानना है कि हथियारों या सामग्रियों को प्राप्त करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता था. मिस्र एक मात्र देश है जिसके साथ गाजा पट्टी की भूमि सीमा है.

सीमा पार करने का इंतजार कर रहे एक हाजी ने एएफपी से कहा कि वह 2014 से मक्का यात्रा करने की कोशिश कर रहे थे. हालांकि उन्हें अब इजाजत मिली है.

Loading...