हाल ही में सऊदी अरब ने क़तर के साथ बातचीत न करने का फैसला किया है. वहीँ संयुक्त अरब इमारत ने दोहा के विरुद्ध प्रतिबंध कड़े करने की बात कही है. ऐसे में अब मिस्र ने भी क़तर को धमकी दी है.

मिस्र के विदेश मंत्री ने सामेह शुकरी कहा है कि उसके पास सिर्फ़ दो विकल्प हैं जिनमें से उसे एक को चुनना ही होगा. शुकरी ने कहा कि क़तर के पास दो विकल्प हैं और कोई तीसरा विकल्प नहीं है, उसे या तो वह अरबों की राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा करे या फिर विदेशी शक्तियों के हित में इस सुरक्षा को कमज़ोर बनाना जारी रखे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि क़तर को स्पष्ट रूप से इस बात का चयन करना होगा कि वह अरबों की राष्ट्रीय सुरक्षा और बंधु अरब देशों की स्थिरता की रक्षा करना चाहता है या फिर क्षेत्र को अस्थिर बनाने और विदेशी शक्तियों और चरमपंथी गुटों के हित में अरबों की राष्ट्रीय सुरक्षा को कमज़ोर बनाने की अपनी विफल कोशिशों को जारी रखना चाहता है.

मिस्र के विदेश मंत्री सामेह शुकरी ने इसी तरह कहा कि मिस्र की मांगें पूरी तरह से स्पष्ट हैं. जो भी मिस्र और मिस्री राष्ट्र के ख़िलाफ़ साज़िशें जारी रखना चाहेगा वह पहला देश होगा जो अपने षड्यंत्रों की आग में जल कर भस्म हो जाएगा.