मिस्र सार्वजनिक सथानों पर बुर्के पर प्रतिबंध लगाने वाला हैं. इसको लेकर जल्द ही संसद में एक प्रस्ताव रखा जाएगा. प्रस्ताव के अंतर्गत देश में सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनना प्रतिबंधित होगा.

मिस्र सरकार के इस फैसले का अल-अजहर यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर और सांसद आमना नोसिर ने समर्थन किया हैं. उन्होंने बुर्के को इस्लाम में गैरजरुरी करार देते हुए कहा कि  यह एक गैर-इस्लामी तरीका है.

आमना नोसिर ने कहा कि यह एक यहूदी परंपरा है जो इस्लाम से पहले अरब प्रायद्वीप में मौजूद थी. उन्होंने कहा कि बुर्के का इस्तेमाल करने के बजाय कुरान के मुताबिक बालों को मामूली कपड़ों से कवर किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस्लाम के अनुसार चेहरे को ढकना जरूरी नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब रहें कि मिस्र में पहले से ही चेहरे पर नकाब लगाने पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया हैं. इसी साल फरवरी में काहिरा यूनिवर्सिटी ने नर्सों और चिकित्सकों को मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में नकाब लगाने पर प्रतिबंध लगा दिया था.

Loading...