लेबनानी संगठन हिज़्बुल्लाह ने इस्राईल द्वारा सीमाओं पर किये जा रहे दीवार निर्माण को लेकर कहा कि इस्राईल ने अपने ‘ग्रेटर इस्राईल’ के मकसद को पीछे छोड़ते हुए ये दीवार का निर्माण शुरू किया है.

गुरुवार को बयान जारी कर आंदोलन के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि लेबनान का एक आम नागरिक, सीमा पार करके अवैध अधिकृत फिलिस्तीन में दस किलोमीटर अंदर तक जाने में सफल रहा और इससे पता चल गया कि इस क्षेत्र में इस्राईल की ओर से किये जाने वाले कड़े सुरक्षा उपाय, प्रभावहीन रहे हैं और इसी लिए उसने सीमाओं पर दीवार बनाने का निर्णय लिया है.

उन्होंने कहा कि इस दीवार के निर्माण का एक मतलब यह है कि इस्राईल ने लेबनान की जीत और अपनी योजनाओं की नाकामी और सपनों के टूट जाने और ” ग्रेटर इस्राईल” की नाकामी को स्वीकार कर लिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस्राईल को किसी भी प्रकार की युद्धोन्मादी कार्यवाही की ओर से सचेत करते हुए कहा कि किसी भी आगामी  युद्ध में अवैध अधिकृत फिलिस्तीन का कोई भी क्षेत्र हिज़्बुल्लाह के मिसाइलों और लड़ाकों से सुरक्षित नहीं रहेगा.