कोरोना संकट से जूझ रहे अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लॉकडाउन हटाए जाने के संदर्भ में बात करते हुए प्रार्थना के लिए चर्चों को फिर से खोलने की वकालत की है। राष्ट्रपति ट्रंप ने राज्यों को भी प्रार्थनाघर खोलने के लिए कहा है।

ट्रंप ने प्रार्थनाघरों को जरूरी स्थान की कैटिगरी में रखते हुए कहा कि ये जरूरी सेवाओं में आते हैं इसलिए खोला जाना जरूरी है। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते अमेरिका में चर्च समेत सभी प्रार्थनाघरों को बंद कर दिया गया था। साथ ही उन्होंने विभिन्न राज्यों को धमकी तक दे डाली कि संघीय सिफारिशों का सभी राज्य कड़ाई से पालन करें, अन्यथा वह ‘ओवरराइड’ कर सकते हैं। यानी ट्रंप राज्यों के प्रशासन को अपने हाथों में ले सकते हैं।

वाइट हाउस में मौजूद मीडिया से ट्रंप ने कहा, ‘मेरे निर्देश पर सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन अलग-अलग समुदायों के लिए गाइडलाइन जारी कर रहा है।’ ट्रंप ने कहा, ‘आज मैं प्रार्थनाघरों, चर्च, सिनगॉग और मस्जिदों को जरूरी स्थानों की श्रेणी में रख रहा हूं क्योंकि ये जरूरी सेवा प्रदान करते हैं।’

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि अमेरिका में कोरोना की दूसरी लहर की स्थिति में भी देश में लॉकडाउन नहीं होगा। उन्होंने कहा था कि परमानेंट लॉकडाउन स्वस्थ राज्य या स्वस्थ देश के लिए एक रणनीति नहीं है। हमारा देश बंद होने के लिए नहीं है। कभी न खत्म होने वाले लॉकडाउन से एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा आ जाएगी।

बता दें कि अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से अबतक 96 हजार लोगों की मौ’त हो गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,598,631 हो गई है। इससे पहले शुक्रवार को यहां 21,484 नए मामले सामने आए और 1145 लोगों की मौत की जानकारी मिली थी।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन