अमेरिकी कांग्रेस को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वे आतंकवाद के खात्मे के लिए मुस्लिम देशों से भी मदद लेंगे. उन्होंने कहा कि अमेरिका अब कभी 9/11 जैसी वारदात को अपनी सरजमीं को नहीं होने देगा.

उन्होंने साफ किया कि आईएसआईएस के खिलाफ उनके देश की जंग जारी रहेगी और इसके लिए वो मुस्लिम मुल्कों से भी सहयोग लेंगे. ट्रंप का कहना था कि वो नाटो का पुरजोर समर्थन करते हैं लेकिन इस संगठन का खर्च उठाने में बाकी देशों को भी आगे आना होगा.

ट्रंप ने कहा अमेरिका एक ऐसा देश है जो हमेशा नफरत और बुराई के खिलाफ रहा है. ट्रंप ने साफ किया कि वे बाय अमेरिकन, हायर अमेरिकन, यानि अमेरिका की वस्तु खरीदो और अमेरिकन को नौकरी पर रखो की नीति पर चलेंगे. संबोधन में ट्रंप ने कंसास में एक भारतीय इंजिनियर के हत्या की निंदा की.
ट्रंप ने कहा हम असंभव सपनों को पूरा करने की तरफ बढ़ रहे हैं. उन्होंने अतीत में की गई गलतियों को न दोहराने का संकल्प लिया. संबोधन में ट्रंप ने जल्द ही दक्षिण सीमा पर दीवार बनाने का काम शुरु करने की बात कही. उन्होंने कहा अमेरिका के लिए सबसे पहले नागरिक हैं और कहा कि  इमिग्रेशन लॉ को सशक्त बनाकर हम लोगों को रोजगार उपलब्ध कराएंगे,  इससे हम अरबों डॉलर बचाएंगे और अपने लोगों को सुरक्षित करेंगे.
Loading...