Trump the US Constitution and against the values of the anti-Muslim statements: White House

डोनाल्‍ड ट्रंप ने गुरुवार को रिपब्लिकन राष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवारी की बहस के दौरान यह बयान दिया।

अमेरिकन राष्‍ट्रपति पद के चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी की ओर से प्रत्याशी बनने की दौड़ में शामिल डोनाल्‍ड ट्रंप ने पाकिस्‍तान के परमाणु हथियारों को लेकर चेताया है। उन्‍होंने कहा कि अमेरिका को अफगानिस्‍तान में रूकने की जरूरत है। क्‍योंकि उसके पड़ोसी पाकिस्‍तान के पास परमाणु हथियार हैं जिन्‍हें सुरक्षित करना चाहिए। उन्‍होंने यह बयान गुरुवार को रिपब्लिकन राष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवारी की बहस के दौरान दिया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्‍होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि अफगानिस्‍तान में थोड़े समय के लिए और रूकना होगा। वह पाकिस्‍तान के करीब है। पाकिस्‍तान के पास परमाणु हथियार है और उन्‍हें बचाया जाना चाहिए। परमाणु हथियार माहौल बदल देते हैं।’ बता दें कि पिछले साल ट्रंप ने पाकिस्‍तान को सबसे खतरनाक देश बताया था। एक साक्षात्‍कार में उन्‍होंने कहा था कि पाकिस्‍तान को परमाणुविहीन करना होगा। इस दौरान ट्रंप ने कहा था, ‘आपको इस मामले में भारत को शामिल करना होगा। उनके पास परमाणु हथियार भी है और ताकतवर सेना भी। वे पाकिस्‍तान को रोक सकते हैं।’

वहीं पाकिस्‍तान के वित्‍त मंत्री ने गुरुवार को कहा कि उनका देश परमाणु कार्यक्रम को वापस नहीं लेगा। चाहे कितना ही वित्‍तीय संकट हो और विदेशी कर्ज बढ़ जाए। उन्‍होंने पाकिस्‍तान संसद में सीनेट में यह बयान दिया। उन्‍होंने कहा, ‘हमने यह कार्यक्रम बंद करने के लिए शुरू नहीं किया था। यह हमारी सुरक्षा के लिए है। इसे बचाना राष्‍ट्रीय जिम्‍मेदारी है। पाकिस्‍तान की सभी राजनीतिक पार्टियां हमारे परमाणु कार्यक्रम की स्‍वामी है। यदि हमारा कर्ज 100 बिलियन डॉलर या 100 ट्रिलियन डॉलर हो जाए तो भी यह बंद नहीं होगा।’ (Jansatta)

Loading...