trumpescalatestension

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को पुलवामा आतंकी हमले को भयावह करार दिया है. ट्रंप ने कहा कि वह इस मामले में रिपोर्ट देख रहे हैं और जल्द ही बयान जारी करेंगे। बता दें 14 फरवीर को पुलवामा में भारतीय सैनिकों पर आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले को निशाना बनाया गया। जिसमें 40 जवान शहीद हो गए जबकि पांच घायल हुए थे.

इस पर व्हाइट हाउस से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है. अच्छा होगा, अगर आंतक के मामले पर भारत और पाकिस्तान साथ हो जाएं. एक सवाल का जवाब देते हुए ट्रंप ने कहा कि हमें इस मामले पर कई रिपोर्ट्स मिली हैं. और सही समय आने पर इस पर बयान जारी किया जाएगा. ट्रंप ने कहा कि आंतकी हमले की वजह से भयानक स्थिति पैदा हो गई है. हमें इस पर रिपोट्स मिल रही है और सही समय आने पर इस पर बयान दर्ज कराया जाएगा.

Loading...

बता दें कि इससे पहले आतंकी हमले पर अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने भारत का समर्थन किया था. हमले के बाद जॉन बोल्टन ने भारतीय एनएसए अजीत डोभाल से फोन पर बातचीत करते हुए आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई में साथ देने का आश्वासन दिया था.

ट्विटर पर अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियों ने कहा था, “आतंकवाद का सामना करने के लिए अमेरिका भारत के साथ खड़ा है. पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के लिए आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया नहीं कराना चाहिए.”

इससे पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान से सभी आतंकी गुटों को मदद और पनाह देना तत्काल बंद करने को कहा था. ट्रंप की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने एक बयान में कहा था, “अमेरिका ने पाकिस्तान से कहा है कि वह अपनी जमीन पर आतंकी गुटों को मदद करना तुरंत बंद करे क्योंकि क्षेत्र में हिंसा और आतंक का बीज बोना ही उनका लक्षय है.”

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें