ju1

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडु ने मंगलवार को बताया था कि वह म्यांमार के नेता आंग सान सू की के साथ रोहिंग्या मुस्लिमों की दुर्दशा के बारे में विस्तृत वार्तालाप” करने जा रहे हैं, जो कि विश्व स्तर पर “बड़ी चिंता” का विषय है.

ju1

जस्टिन ट्रुडु ने ने म्यांमार की कांसलर आंग सान सू की, के साथ एक विस्तृत बातचीत की, जिसमे उन्होंने राखीन राज्य में मुस्लिम शरणार्थियों की दुर्दशा के बारे में बताया. उन्होंने सू की से स्पष्ट शब्दों में कहा कि यह कनाडा और दुनिया भर में कई देशों के लिए बहुत जबरदस्त चिंता का विषय है.”

ध्यान रहे 25 अगस्त के बाद से राखिने में म्यांमार सेना के अभियान के चलते 6 लाख रोहिंग्या मुस्लिमो ने अपनी जान बचाकर पड़ोसी देश बांग्लादेश में शरण ली हुई है. इस सैन्य अभियान को सयुंक्त राष्ट्र रोहिंग्या मुस्लिमों का नस्लीय जनसंहार करार दे चूका है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसके साथ ही इस पुरे मामले में दुनिया भर में आंग सान सू की ख़ामोशी पर भी सवाल उठ रहे है. 10-सदस्यीय दक्षिण-पूर्व एशियाई राष्ट्रों (आसियान) में भी मलेशिया सहित कई देशों ने इस मामले में बड़ी चिंता व्यक्त की है.

हालांकि, आसियान के एक-दूसरे के आंतरिक मामलों में गैर-हस्तक्षेप के सिद्धांत को ध्यान में रखते हुए, यह शिखर सम्मेलन में अलग रखा गया था.

Loading...