Thursday, September 23, 2021

 

 

 

सऊदी अरब की धमकी के बावजूद अमरीकी सिनेट में बिल पास

- Advertisement -
- Advertisement -

अमरीकी सिनेट ने वह बिल पास कर दिया है जिसके तहत 11 सितम्बर के हमलों के पीड़ितों को सऊदी अरब की सरकार के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही करने का अधिकार मिल जाएगा। न्यूयार्क से डेमोक्रेटिक सिनेट चार्ल्ज़ स्कमर ने मंगलवार को कहा कि न्यूयार्कवासी होने के नाते यह बिल मेरे हृदय के बहुत क़रीब है इससे 11 सितम्बर की घटना के पीड़ितों को कुछ अदालती कार्यवाही करने का अधिकार मिल जाएगा।

रिपब्लिकन पार्टी के बहुमत वाली सिनेट में यह बिल सर्वसम्मति से पारित हो गया। अमरीका के राष्ट्रपति बाराक ओबामा पहले कह चुके हैं कि वह सुरक्षा चिंताओं के कारण इस बिल को वीटो कर देंगे लेकिन स्कमर का कहना है कि इस वीटो को भी आसानी से हटाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सिनेट ने बुलंद आवाज़ में अपना फ़ैसला सुनाया है कि आतंकी हमलों के पीड़ित परिवारों को दोषियों की निशानदेही का मौक़ा मिलना चाहिए चाहे वह दोषी कोई देश हो या राष्ट्र।

वाइट हाउस के प्रवक्ता जाश अर्नेस्ट ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि इस मामले में राष्ट्रपति ओबामा का दृष्टिकोण वही है जो पहले बयान किया जा चुका है। सिनेट के बाद इस बिल को प्रतिनिधि सभा के सामने रखा जाएगा।

स्कमर ने कहा कि यदि सऊदी अरब आतंकवाद में लिप्त नहीं है तो उसे डरने की कोई ज़रूरत नहीं है और यदि वह आतंकवाद में लिप्त है उसे ज़िम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

11 सितम्बर 2001 के आतंकी हमलों में सऊदी अरब की भूमिका के बारे में अमरीका में हालिया दिनो बहस गर्म हो गई है। सऊदी अरब इस स्थिति से परेशान है और सऊदी विदेश मंत्री आदिल अलजुबैर ने धमकी दी है कि यदि अमरीका में यह बिल पास हुआ तो सऊदी अरब इस देश में अपनी संपत्तियां बेचने पर विवश हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles