झिंजियांग के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में चीनी अधिकारियों ने जातीय अल्पसंख्यक मुस्लिम परिवारों को नमाज के लिए इस्तेमाल होने वाली मेट और कुरान अधिकारियों को सौंपने का आदेश दिया है.

झिंजियांग के अधिकारियों ने मस्जिदों को चेतावनी दी है कि जातीय अल्पसंख्यक उइघुर, कज़ाख और किर्गिज़ मुस्लिम को ये सभी चीजे अधिकारियों को सौंप देनी चाहिए. यदि उन्हें बाद में पाया जाता है तो उन्हें कठोर सजा मिलेगी.

“गाव, टाउनशिप और काउंटी स्तर के अधिकारियों ने नमाज के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले विशेष मैटों और कुरान को जब्त कर रखा है.” हालांकि अभी भी बहुत से ऐसे घर भी जिनमे अब भी कुरान और मैट मौजूद है.

वर्ल्ड उईघुर कांग्रेस ग्रुप के निर्वासित प्रवक्ता Dilxat Raxit ने कहा कि रिपोर्ट पिछले सप्ताह कशगर, होतन के क्षेत्रों से सामने आई है.

उन्होंने बताया कि हमें एक अधिसूचना मिली है कि हर एक जातीय उईघुर को इस्लाम से संबंधित किसी भी प्रकार की चीज घरों में या उनके हाथ में नहीं मिलाना चाहिए. उन्होंने कहा, “उन्हें ये चीजे स्वेच्छा से सौंप देने के लिए कहा गया है. यदि उन्हें सौंपा नहीं गया है, और ये बाद में मिलती है, तो कठोर दंड के हकदार होंगे.”

Dilxat Raxit ने बताया कि पुलिस ने मीडिया प्लेटफॉर्म वेचैट के जरिए ये घोषणा की है. “सभी कुरान और संबंधित वस्तुओं को अधिकारियों को सौंप दिया जाना चाहिए” ये संदेश सोशल मीडिया पर प्रसारित किया जा रहा है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?