palest

संयुक्त राष्ट्रसंघ ने जार्डन नदी के पश्चिमी किनारे पर फिलिस्तीन की जमीन पर अवैध कॉलोनी बसाने की कोशिश करने पर इजराइल की आलोचना की हैं. इस जमीन पर 26 लाख से अधिक फिलिस्तीनी रहते हैं जिनमे कम से कम 4 लाख जायोनी भी रहते हैं.

संयुक्त राष्ट्रसंघ ने इजराइल की इस योजना को अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन बताते हुए कहा कि फिलिस्तीन की इस जमीन पर इजराइल द्वारा नई कॉलोनी बसाने की योजना अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन हैं.

राष्ट्रसंघ के मानवाधिकार आयोग के प्रमुख ज़ैद राअद अलहुसैन ने गुरूवार को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा, जायोनी सांसदों को चाहिये कि वे पश्चिमी किनारे पर नई जायोनी कालोनियों के निर्माण हेतु अपनी योजना के बारे में पुनर्विचार करें क्योंकि इस योजना के पारित हो जाने की स्थिति में उनके लिए इसका खतरनाक परिणाम होगा. उन्होंने कहा कि इसी प्रकार इस योजना से क्षेत्र की सुरक्षा को नुकसान पहुंचेगा.

राअद अलहुसैन ने कहा कि यह कानून अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन है जो यह अनुमति देता है कि जायोनी पश्चिमी किनारे पर रहने वाले फिलिस्तीनियों की सहमति के बिना उनकी जमीनों को अपने मकानों के निर्माण के लिए हड़प लें


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें