dc-cover-d6sr3lc9ti9cp36jp9i36rh3p7-20161208022948-medi

चेन्नई | तमिलनाडू की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद उनकी पार्टी AIADMK पर राजनितिक संकट आ गया है. जयललिता के बाद पार्टी की कमान कौन संभालेगा यह अभी भी रहस्य है. हालांकि जयललिता की सबसे करीबी शशिकला AIADMK की राजनितिक धुरी बनती दिख रही है. मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम और उनकी कैबिनेट के सभी मंत्री शुक्रवार को शशिकला से मिलने पहुंचे.

जिस तरह जयललिता के निधन के बाद शशिकला हर जगह नजर आई, उससे यह साबित हो गया था की जयललिता क बाद भी उनका पोश गार्डन स्थित आवास सत्ता का केंद्र बना रहेगा. इसकी बानगी शुक्रवार को दिखी भी जब मुख्यमंत्री समेत उनके सभी मंत्री कतार में खड़े होकर शशिकला से मिलने पहुंचे. हालांकि जयललिता के निधन के बाद, AIADMK की जनरल सेक्रेट्री का पद अभी भी खाली है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पार्टी के सभी पदाधिकारी सर्वसम्मति से इस पद का चुनाव करेंगे. जिस तरीके से मुख्यमंत्री , कैबिनेट मंत्री और पार्टी के कुछ दिग्गज नेता पोश गार्डन में दिखाई दिए उससे तो यही लग रहा है की इस पद पर शशिकला का नियुक्त होना अब मात्र औपचारिकता भर है. गौरतलब है की शशिकला , जयललिता के साथ ही उनके आवास में रह रही थी. उनके साथ उनका सारा परिवार भी यही रह रहा था.

शशिकला के पति फ़िलहाल राजनीती से दूर है लेकिन जयललिता के अंतिम संस्कार के दिन जिस तरीके से वो प्रधानमंत्री मोदी से बात कर रहे थे उसे देखकर लगता है की वो जल्द ही राजनितिक पारी शुरू कर सकते है. सबसे चौकाने वाली बात यह है की शशिकला के धुर विरोधी रहे , पार्टी के दिग्गज नेता के. ए. सेनगोट्टियां, गुरुवार को शशीकला से मिलने पहुंचे. माना जा रहा है की शशिकला के पार्टी की सँभालने की सम्भावना के बीच सभी अपने अपने समीकरण फिट करने का प्रयास कर रहे है.

Loading...